शिव्संकल्पोप्निषद

यह उपनिषद शुक्ल याजुर्ववेद के अध्याय ३४ के मंत्र १ से ६ में वर्णित है |इस उपनिषद में मनन को शुभ संकल्पों से युक्त करने की कामना की गयी है |

Download (PDF, 95KB)